Mahi ki Chudai ki Dard Wali kahani-माही की चुदाई की दर्द भारी कहानी

Mahi ki Chudai ki Dard Wali kahani-माही की चुदाई की दर्द भारी कहानी

ये कहानी मेरी और मेरी दोस्त माही की पहली चुदाई की दर्द भारी कहानी है, यह कहानी एकदम सच्ची कहानी है। Mahi ki Chudai

मेरा नाम सानू है, मेरी आयु-25 साल, मेरी हाइट 5.2 फ़ीट मेरा रंग गोरा है और मेरा लण्ड 6.4 इंच का है, मैं दिल्ली में रहकर जाब की तैयारी करता हूं। माही मेरे शहर की है, और उसकी आयु 23 साल है।

उसका सेक्सी फिगर साइज़ 32C -28-34 है। उसकी हाईट 5 फीट और रंग गोरा है और M.SC की पढ़ाई कर रही है।

ये बात 15 अगस्त 2015 की है, स्वतंत्रता दिवस समारोह में हम सब लोग इकट्ठे हुए थे। समारोह की शुरुआत में ही माही ने देश मेरा रंगिला में बहुत सुंदर गाने पर नाची थी।

उसे देख मैं सोच लिया अब यही मेरी गर्लफ्रेंड बनेंगी। समारोह के अंत में हम दोनों ने बात करी और घर पहुंचते ही मैंने उसे फेसबुक पर फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज दी। फिर बातों का सिलसिला जारी हुआ, और एक दिन बातों ही बातों में मैंने उसे प्रोपोसे कर दिया।

पर उसने मना कर दिया और वो बोली – सॉरी पहले मेरा एक बॉय फ्रेंड हैं।

फिर तब हम अच्छे दोस्त बन गए, और हम हर एक बात शेयर करने लग गये। फिर धीरे धीरे हम इतने करीब आ गए, कि हम सेक्स चेत और विडियो कॉल सेक्स करके एक दुसरे को संतुष्ट करने लग गये। Mahi ki Chudai

तभी उसका भाई पढ़ने दिल्ली आया था। मैं उसको एक कमरा दिलवा दिया था, और उसे वहाँ एडजस्ट करवा दिया था। फिर कुछ दिनों के बाद माही उसका खाना बनाने के लिए यहीं आ गई, और फिर माही से मोबाइल में बातों का सिलसिला जारी रहा।

एक दिन मैं उनके कमरे गया उसका भाई भी वहीं पर था, माही खाना बना रही थी। थोड़ी देर बाद उसका भाई नहाने चला गया, और मैं माही के पास जाकर उसको मैंने अपना पहला किस कर दिया।

उसने मुझे हटा दिया, अब माही मुझे घुरने लग गयी, तो मैंने उसे अपनी तरफ दुबरा खिंचकर किस करना शुरू कर दिया। मैं भी उसका साथ देने लग गया, भाई के आने से पहले हम दोनों हट गये।

उस दिन मिलकर मैं अपने कमरे में आ गया, ऐसे ही एक दिन मैंने उसको चुदाई के लिए बोला और उसने हाँ बोल दिया। फिर अगले दिन सुबह मैं उसके कमरे पर पहुंच गया, उसका भाई **ल चला गया था।

अब वो 5 बजे हि वापिस आने वाला था। माही पिंक कलर की टॉप और टाइट लोअर पहनी हुई बहुत गजब दिख रही थी। उसे देखते ही मैंने उसको हग कर लिया और मैं उसे किस करने लग गया।

मैंने उसको गोद में लेकर किस करते करते कमरे में ले गया, और कमरे में ले जाकर मैं उसे किस करने लग गया। मैं उसके रसीले होठों को चूस रहा था, माही भी मेरे मुंह में जीभ डाल कर अपनी जीब को चुसवा रही थी।

मै एक हाथ से उसके बूब्स दबाने लग गया था, अब मेरा एक हाथ से उसके चूतड़ों को मसल रहा था। वो भी एक हाथ से मेरी पैंट के ऊपर से ही मेरे लण्ड को मल रही थी।

ये भी सेक्स स्टोरी पढ़ें -  Lockdown Me Bete Ne Maa Ko Pela

मैं उसको घुमाकर उसके कान के पीछे से उसे चुम रहा था, उसकी नाभि में मैं अपनी उंगली फेरने लग गया था। फिर मैं उसके कान में बोला – चलो कपड़े तो उतारो।

माही – खुद ही उतार लो ना।

फिर मैंने उसका टॉप उतार दिया और ब्रा के ऊपर से ही बुब्स को चुसने लग गया। माही ने मेरी शर्ट उतार दी, और मेरी छाती को वो चूमने चाटने लग गयी। मैंने बुब्स के चुसने के साथ उसकी लोअर में हाथ डाल कर उसकी चूत सहलाना शुरू कर दिया।

फिर मैंने धीरे धीरे से उसका लोअर भी निकाल दिया, माही मेरे पैंट की ज़िप में हाथ डाल कर मेरे लण्ड को तैयार कर रही थी। मैंने पैंट अपनी उतार दी और मैं माही से बोला – इसे मुंह में लो।

तो उसने मना कर दिया और मैं समझ गया, कि वह अभी ज्यादा गर्म नहीं है। तो मैने उसकी पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत को चाटने लग गया और धीरे से उसकी पैंटी को भी मैंने उतार दिया।

मैं देखकर हैरान था कि इतनी छोटी चूत और उस पर बिल्कुल छोटे छोटे बाल थे। मैंने उसकी चूत को स्पर्श किया, तो माही थोड़ा पीछे हटीं मैंने माही के चेहरे की तरफ देखा, तो उसकी आंखें बंद थी।

मैंने उसकी चूत को हल्के हाथ से सहलाने लग गया, और धीरे से मैंने एक उंगली को उसकी चूत में डाल दिया। इससे माही जोर से शीईई..शी की सिसकारियां निकालने लग गयी।  Mahi ki Chudai

मैंने तुरंत जीभ लगा कर उसे चाटने लग गया, जैसे ही मैंने अपनी जीभ उसकी चूत में डालीं तो माही जोर जोर से आहें भरने लग गयी। अब वो तड़प उठी थी, माही के मुंह से उउउफ आआआह की आवाजें आने लग गयी थी।

अब मैं दोनों हाथों से उसके चूतड़ों को पकड़ कर माही की चूत को चूसने लग गया। मैंने उसको टेबल में बैठकर लगभग 10 मिनट तक उसकी चूत को चूसा और जीभ से उसकी को चूत चिकनी किया।

अब माही से रहा नहीं गया, और वो अपना रस छोड़ रही थी। मैं चूत का रस मुंह में लेकर माही से किस करने लग गया था। मैंने उसकी चूत के रस को माही के मुंह में डाला, तो वो मुझे धक्का देने लग गयी।

लेकिन मेरी मजबूती के आगे उसकी एक ना चली, और हम दोनों ने मिलकर चूत के रस को पी लिया। अब मुझसे रहा नहीं गया और मैं पूरा नंगा हो गया, मेरा लण्ड देख कर माही बोली।

माही – इतना बड़ा?

मैं – तो क्या हुआ अब तुम इसे ले सकती हो।

मैंने अपने खड़े लण्ड की ओर इशारा करते हुए उसे कहा – प्लीज माही मुंह में लो न।

वो चुप चाप अपने बैग से चॉकलेट ले कर आई, और वो मेरे लण्ड को पकड़ कर हिलाने लग गयी। माही अब मुस्करा रही थी फिर वो मुझे आंख मार कर मेरे लण्ड पर चाकलेट लगाने लग गयी।

ये भी सेक्स स्टोरी पढ़ें -  Meri Chut Tite Magar Jija Ka Lund Kadak-मेरी चूत टाइट मगर जीजा का लंड ककड़ी

फिर धीरे से लण्ड के सुपाड़े को माही ने किस करके लण्ड को चाटने लग गई, मैं आंखें बंद करके उसकी चूसाई से मदहोश हो उठा। माही आधे लण्ड को अपने मुंह में ले रही थी, तो मैंने उसको पकड़ कर उसके मुंह को लण्ड में दबा दिया।

वो मुझे जोर का धक्का देकर मुझे से अलग हो गई, अब हम दोनों खड़े थे वो गुस्से से बोली – मुंह में नहीं।

फिर मैंने माही को पकड़ कर दुबारा चाकलेट लगा कर जोर जोर से चाटने लग गया। अब माही फिर से तड़पने लग गयी, ये देखकर मैं माही को बुब्स दबाते हुए बोला – माही हम दोनों जिंदगी का वो पल में आ गया है, इस चुदाई के बाद तुम कुंवारी से एक औरत बन जाओगी।

माही – 3 साल के प्यार के साथ तुम एक अच्छे इंसान दोस्त भी हो, यह मेरा सौभाग्य होगा कि मैं तुम्हारे लण्ड से जवानी की दहलीज को पार करुंगी।

ये सुनते ही मैंने माही को गोद में लेकर किस करते हुए, किंचन से पानी की बोतल और सरसों का तेल ले कर वापस बिस्तर में माही को मैंने लिटा दिया। मैं पानी पीने के साथ कंडोम लगाने को कहा।

माही ने एक मुस्कराहट दी, जो आज भी मुझे याद है। मैं माही को मिशनरी पोजीशन में लेकर उसकी चूत को चूसने लग गया। चूसते चूसते मैं उसको मुंह में मुंह डाल कर किस करने लग गया।

इस बीच मैंने अचानक से उसकी चूत के छेद में लण्ड डालना चाहा, लेकिन गलती से माही के सुसु के छेद में असफल निशाना साधा दिया जोरदार धक्का लगा बैठा। माही अअअअआह के दर्द से तिलमिला उठी और वो बोली।

माही – मुझे भी बहुत दर्द हुआ।

तो गुस्से में माही ने मेरे गाल में चटा मारते हुए होंठों को चूस लिया और वो बोली – पागल नीचे के छेद में डालो।

मैं – तुम ही राह दिखा दो आगे की।

तो माही मेरा लण्ड पकड़कर ठीक से चुदाई के छेद पर रख दिया, फिर मैंने धीरे से अपना डाला लेकिन उसकी टाइट चूत में मेरा लंड घुस नही पाया। माही उउचच की आवाज से कांप उठी।  Mahi ki Chudai

मैं लंड निकाल कर माही को लंड चाटने को कहा, और वो मान गई। माही लण्ड को अच्छे से चिकना करने लग गयी, मैं एक उंगली से उसकी चूत में डाल कर रास्ता बना रहा था।

माही ने मुंह से लण्ड निकालते हुए कहा – सानू तुम डरो नहीं मुझे कुछ नहीं होगा तुम थोड़ा तेज डालो। मैंने तुम्हारा लण्ड सरसों के तेल से चिकना कर दिया है।

मैंने भी अपने थूक से माही की चूत को चिकना कर दिया था, फिर माही ने भी अपना थूक चूत में लगाते हुए लण्ड को अपने चूत के छेद पर सेट किया, मैं उसके होंठों को चूमने चाटने लग गया।

अब मैं अपनी जीभ उसके मुंह में डाल कर जोरदार किस करते हुए, मैंने एक जोरदार धक्का मार दिया। माही के मुह से उउउउउइइमां की तेज तर्रार आवाज निकलती है।

ये भी सेक्स स्टोरी पढ़ें -  Ek Jigolo Ki Chudai Ki Kahani-एक जिगोलो की चुदाई की कहानी

तो मैंने उसका मुंह चुंबन से बंद कर दिया, और लगातार दो धक्के लगा दिए। माही उउगूगूगू उउउ की आवाज मेरे मुंह में दब गई, माही ने मुझे धक्का देकर हटाना चाहा लेकिन मेरी मजबूती ने उसे मजबूर कर दिया।

उसको रोता देख मैं रुक गया और मैं उसके बुब्स को दबाने चूसने लग गया। माही ने रोते हुए कहा – अब और न करो।

फिर मैं उसको चूमने चाटने में लगा रहा, माही बोली – दर्द बहुत हो रहा है। Mahi ki Chudai

मैं बोला – यार पहली बार होना ही था। Mahi ki Chudai

अब मैं धीरे धीरे लंड अंदर बाहर करने लग गया, उसको अच्छा लगता देख मैं उसके होंठों पर अपने होंठ रखते हुए एक और तेज तर्रार धक्का मार दिया। माही आआआआआआह के आवाज़ के साथ नीचे से हटने का प्रयास करने लग गयी।

अब माही का कुंवारापन टूट गया था, माही की बिगड़ी हालत देख कर मैं उसके ऊपर लेटा रहा और उसके बुब्स दबाने लग गया। मैं उसके बालो को प्यार से सहलाने लग गया।

फिर थोड़ी देर के बाद वो मुझे किस करने लग गयी, और माही ने मुझसे पूछा – हो गया?

मैं – अभी तो 4/5 इंच ही गया है।

माही – मेरे अंदर पूरा लेने की हिम्मत नहीं है।

अब मैं समझ गया और उतने में ही लंड मै अंदर बाहर करने लग गया। माही को अभी भी दर्द हो रहा था, मैं उसे मिशनरी पोजीशन में ही चोदने लग गया। माही के निप्पल को मैं मुंह में लेकर चूस और काट रहा था।

करीब 10-12 मिनट की चोदन चोदी के बाद माही अकड़ कर अपना पानी छोड़ने लग गयी। उसके पानी के स्पर्श पाकर मैं कंट्रोल खो दिया, और मैं भी एक आवाज के साथ माही की चूत में अपना वीर्य छोड़ने लग गयी।

अब मैं उसके उपर लेटा रहा, थोड़ी देर बाद मैं हटा और झट से पास में पड़े कपड़े से उसकी चूत पोंछ दिया। उसकी चूत में खून लगा देख मुझे माही पर बहुत प्यार आया, और मैंने दुबारा उसको अपनी बाहों में ले लिया।

अब मैं उसके साथ लेट गया और माही किस करते हुए पहली बार वो उसने मुझे लव यू बोला। फिर मैं हंसा मैंने उसे लव यू टू बोल दिया, अब 3 बज रहे थे तो हम दोनों ने स्नान किया।

मैंने खाने के लिए चावल की तहरी फटा फट बना कर, हम दोनों लोगो ने एक साथ खाएं। क्योकि उसके भाई के आने से पहले मुझे वहां से निकलना था, फिर माही को मैं गोद में उठा कर किस करने लग गया।

फिर मैंने उसे दर्द की दवा और एक प्रेगनेंसी की गोली दे दी। फिर मैं अपने कमरे के लिए निकल गया। धन्यवाद!

Ye Sex Story Mahi ki Chudai ki Dard Wali kahani-माही की चुदाई की दर्द भारी कहानी kaisi lagi …

Leave a Comment